रानी मुखर्जी की फिल्म 'मर्दानी' के एडिटर का हुआ देहांत, डायरेक्टर सुजॉय घोष ने जताया शोक

By  
on  

बॉलीवुड के मशहूर एडिटर संजीब दत्ता जिन्होंने 'डोर', 'मर्दानी', 'इकबाल', 'एक हसीना थी' जैसी फिल्मों में काम किया, उनका बीते दिन रविवार को निधन हो गया है. संजीब 54 वर्ष के थे और पिछले कुछ वर्षों से कोलकाता में थे. 

बता दें कि संजीब एफटीआईआई के छात्र रह चुके हैं. वह फिल्म निर्माता नागेश कुकुनूर के लंबे समय तक सहयोगी रहे, उनकी लगभग सभी फिल्मों में संजीब ने बतौर एडिटर काम किया.

संजीब ने हिंदी और बंगाली सहित 80 से अधिक फिल्मों में एडिटर के रूप में काम किया है. उन्होंने कुंदन शाह, श्रीराम राघवन, प्रदीप सरकार जैसे फिल्म निर्माताओं के साथ काम किया है. डायरेक्टर सुजॉय घोष ने हाल ही में ट्विटर पर इन्हे श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है, "हमारे बेहतरीन  एडिटर्स में से एक, संजीब दत्ता! भालो ठकीस काका ... हमें तुम्हारी याद आएगी."

कहा जा रहा है कि संजीब ने रविवार दोपहर कोलकाता के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली. उन्हें दिल संबंधी दिक्कतें थीं और कुछ दिनों पहले ही उनकी बाईपास सर्जरी भी हुई थी.

(Source: Twitter)

Recommended

Loading...
Share